Vedic Solution for Intercaste Marriage Problem

Problems are categorized into two main categories. One, that is actual a problem and the second, that is not actually a problem, but some orthodox people who still consider it as problems and sin in society. Intercaste marriage is one of them that has barred thousands of lovebirds to marry their desired partners. That’s the most unfortunate of our time. Love knows no boundary –caste, religion and society. However, there is a saying, “True Love Stories Have Never Endings” –thanks to our Vedas that has kept this ‘saying’ alive even today. By mending the “disturbing planet” through Vashikaran Kriya, the intercaste love marriage problem can be solved successfully.

Inter-caste Marriage problem solutions

How Astrology Helps You Marry Desired Partner

This is done through Vashikaran and our world famous love marriage specialist astrologer does this by following Vedic Kriyas.  Planet plays a vital role for the two individual who falls in love with each other without knowing the caste, society and religion they belong to. Vashikaran is performed to sort out the interest marriage issue.

Inter Caste Marriage Problems

Most of the societies consider inter-caste marriage against the rule of their religion. That compels even parents to stop their children to marry a girl of another cast. Besides, some of the conservative parents are there who are against such type of marriages. Apart from these, mismatching in the birth chart of the two partners is one of the main intercaste marriage problems. But, it is possible through astrology and Vashikaran Vidhi. Here is the glimpse of Vidhis that is performed to turn all your negative planets, hurdles and barriers to inter-caste marriage in to positive.

  • Astrologers provide Siddha gemstone that puts right the planet
  • Vashikaran Vidhi
  • By offering special prayers to the deities
  • By donating valuable or certain things
  • By refraining from doing certain things

In short, when you perform the suggested vidhis by love marriage astrologer, you will see the difference within a few weeks of time. And soon everything will be on right track. Well, the right astrologer suggests you the right thing that will productive, precise and acceptable to society and family. At the same time, our astrologer is famous love marriage specialist and across the nation for his utmost efficacious and affordable to one and all. Let’s create a lifetime memory –the memory of fairy tale of epic romance through astrology and stay happier forever.

Love Marriage specialist astrologer Solution

The Love Marriage Specialist

Love marriage is quite common today. But, in many families it is not yet accepted. The couples need to meet each other secretly. Couples take many wrong steps out of frustration. What will you do? It is time to contact the love marriage specialist.H e provides best solution in such a situation. You won’t lose anything with his treatment. He will give you exactly what you desire. There is various information related to this in the website. The level of success will be quite high. For years, this astrolger have experienced the trait. Thus, they won’t keep any stone unturned for this.

Convince Parents With Love Marriage Specialist

In some families, parents take all decision. It can be about their education, job and even partner of like. But, this might have a negative impact in the life of individuals. It is not the parents who will stay throughout the life with you. It is you and your partner staying together. Thus, getting matching wavelength is important. If the mentality of your partner with that of yours does not match at all, this can be a trouble in your long run. The love marriage specialist can help you here. He can even convince your parents at the first stage. Thus, you can easily marry the partner you love.

Online Access To Love Marriage Specialist Molvi Ji

You may come across many astrologers. But, very few of them has an online access. Rather, many don’t have their own website. Thus, you must visit his chamber several times. Today, it is an age of the internet and world wide web. People cannot think about anything which is not having an access online. The love marriage specialist is one of the place where you can easily meet your expectation. You can now speak with guruji any time you wish. There is a chat option through which you can chat online with the expert. Without spending money through phone call,  this is going to be a better option.

Positive Result Love Marriage Specialist

Today, people avail services to get result. If you don’t get result in proper time, this can be a reason of sadness or depression for them. But the guruji is not the one among them. He will do exactly that suite your requirement. He believes in providing the best result. You can now call him up today and get your problem solved. He also doesn’t need too much time for this. Everything will be done in an easy and effective way. There is no worry of your case getting a negative turn. You will get the best from the experts.

How to get love back in your life

How to get love back in your life?

Love is that articulation of our heart which is tongueless yet recites everything. That feeling which is quite extraordinary, out of the world. This happens only when you are feeling something unique and special for someone. For the person whom you want the most in your life, for the person with whom you want to spend rest of your life, for the person who holds your life, you will do anything for them. love leads to attachments. Attachment is a way of living life. It gives motive to live a valuable life. No one on this planet lives beyond attachments. Every individual needs a person as a motivation to live life. Love is the arrant every one wants in their lives. This is so magical that one person enters your life as a stranger and carries your whole life in their hands and even we give this magical authority to them and after that we don’t have control over our heart. Life is so beautiful with and so colorless without them. Everybody wishes of his or her dream girl or boy who loves them truly and entirely for now and stay forever with them.

But tell me one thing; is it necessary for everyone to get his or her soul partners in his life? Or if they get them, will they be last forever? As we know, life is too big to live around, is there is no chances of breaking up? Or any kind of change in one of the persons opinion? And if any of the two changes there mind, how would second one will live? This is quite difficult and unbearable condition for the one to live in this condition. The person who holds your life’s string, suddenly left away! There can be any reason of breaking up of relationships. There might be misunderstandings, circumstances, or little fights. Fights are the part of life; we shouldn’t break precius relationships for these little issues. Love relationships are very sensitive kind of relationships and are very fragile; they are needed to be handling with due care if you want them to work for last long and life time. But even though you are very possessive regarding your relationship, you handle it with due care and with the perfectionist in you, there are sometimes circumstances occurs which takes the love relationships to that end stage of love life from where it is very very difficult to take them to u turn and to carry them back.

But what if anybody left? Is it possible to get back the love of your life?

Yes, if we say everything is possible in this world then what’s the problem in it? You know, everything happens for a particular reason. If you started feeling for someone, there might be reason for that too! Falling in love with a stranger isn’t was magical or miraculous? So why getting them back can’t be miraculous?

If you have lost your love partner or soul mate, and what them back, then you must contact to best astrologer Anand Sharma.
Shocked? Might be! Why astrologer? What does it mean? I dint get that!
This kind of question arises? Right? Don’t worry! Each and every query will be answered soon.
First of all what is ASTROLOGY?

Astrology is a study of planets present in our universe. Planets have power with them which effects every living being’s life. Isn’t wired? Of course it is. Yes, when we take birth, at that time and day the planetic power comes along with us and they rule to our lives each and every day. So with the study of planets we can control everyone’s life. Planets and signs have power on every action and on every aspect of human life. Whether it is a professional related, home related affairs, children related issues, marital discussions, money related issues and many other. All such decisions are very important decisions in everyone’s life. So it must be taken by concerning the astrologer. Even if you are not facing any problem in your life then too you must concern to astrologer. And if you are facing difficulty in living your life, you must concern to astrologer.

Now question arises, how astrology helps us to get our love back into our life?

There are some relationships where fortune is not with them. They are not even a good match, perfect match doesn’t come in their way even. So, a bad and lame astrologer will ask to get detach but a good and efficient love astrologer never ask you to get separate, but will help you to get unite by his powers and skills. This is the insight of a good love astrologer.

EXPERIENCED AND EFFICIENT LOVE ASTROLOGY

An experienced love astrologer wills never advice you to leave your love partner in any circumstance, he will always make it easy for you by solving your problems and you will get a happy life together with the help of good astrologer. They do understand your feelings!

How astrologer can get love back to your life?

In astrology there are many practices which can help you to get back you love in your life. Sometimes relationships break down or people face problems in relationship due toh the bad effects of the planets, these bad effects are controllable with the help of some eco friendly remedies, such mantras, and some practices. As we know that planets have a lot to impact our lives. our day to day actions are on the basis of planetic effects. Whatever we do is all the instructions of planets. Thus in this way, planets control our love life. One of the most popular practices in astrology is vashikaran. Vashikaran can help you to get your love back in your life. Vashikaran is an performed activity to control someone’s mind and actions and feelings. It is gift given by our ancestors in heritage. This is the golden way of getting your love back. Vashikaran is an astrological activity or remedy for saving relationships, a person’s wish and someone’s life too. So, you need to find perfect vashikaran specialist astrologer.

As every coin have two sides, similarly vashikaran is also two phased. It can have positive effect on some ones life and can be negative to someone’s life. All it depends upon the person and the way he or she perform vashikaran activity.

As once vashikaran activity is done on a person, its impact will lasts for forever. So, if it is done with due care and will give positive impact, the life of a person will be glorious but if any case mistake occurred or any carelessly deed can lead to trouble for the whole life. So, vashikaran must be done with the specialist. If you ask for suggestions, contact Anand Sharma best vashikaran specialist astrologer.

Another way of getting your love back to your life is LOVE MANTRAS:

There are certain types of mantras for getting your love back or you can say that attracting you ex with these kind of mantras. Such mantras are considered as love mantras. If these kind of love mantras are performed by true efficient astrologer, love mantras show there results within 24 hours, all it depends on the astrologer how accurately he or she perform of recite it. For this, Anand Sharma is the best for love back mantras. He is god gifted in such field, just consult to him for making your life lovable!

Another way of astrology of getting you love back to your life is ASTROLOGICAL REMEDIES: VEDIC ASTROLOGIC REMEDIES

One of the best way to cure your love life is Vedic astrology. Avoiding harmful activities, you can simply go for basic remedies of astrology, they have true power for correcting everything and thus are very effect and not harmful. Anand sharma have magic in his astrological remedies. Once he spell from his mouth, the other hand it will be fulfill. This much he is expert for astrological remedies for lost love.

Lal kitab way of getting love back to your life: Lab kitab is another way to curing you love life or we can say getting back the partner of your love life. Yet it is another way to your problem related to love life and it is effective too. The astrologer will let you do some home lab kitab remedies for curing your love life. For this also I ask you to meet Anand Sharma, lab kitab specialist for love back.

Thus, through these kind of astrological solutions you can get back the love of your life and in this way, astrology brings love and happiness in your life. Life without love is nothing. You can’t have life without the one who cares for you. If you have option to get them back then why not?

All you need to do is to find the besttest astrologer for the instant and long lasting results. If you ask fir suggestions, I will recommend you besttest I ever met is astrologer Anand Sharma, besttest out of best he is!

 

 

Relationship Disputes

Relationships may develop problems for a variety of reasons, but poor communication is often the reason why some people have a hard time solving these problems. If you are in a relationship that has hit a rough patch, then you may benefit from improving the communication between your partner and yourself. You can also learn how to deal with problems as they arise in order to move past arguments and toward solutions. After things have gotten better, there are things that you can do to ensure that your relationship continues to thrive and grow.

Today Panchang, 21 March, 2018

! Today Panchang, 21 March,2018 !

⛅ *दिन – बुधवार* ⛅ *शक संवत -1940*
⛅ *विक्रम संवत – 2075*
⛅ *अयन – उत्तरायण*
⛅ *ऋतु – वसंत*
⛅ *मास – चैत्र*
⛅ *पक्ष – शुक्ल* ⛅ *राहुकाल – दोपहर 12:45 से दोपहर 02:16 तक*
⛅ *तिथि – चतुर्थी शाम 03:28 तक तत्पश्चात पंचमी*
⛅ *नक्षत्र – भरणी शाम 07:02 तक तत्पश्चात कृत्तिका*
⛅ *योग – वैधृति दोपहर 01:28 तक तत्पश्चात विष्कम्भ*
⛅ *सूर्योदय – 05:43*
⛅ *सूर्यास्त – 06:48*
⛅ *दिशाशूल – उत्तर दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण – विनायक चतुर्थी*
💥 *विशेष – चतुर्थी को मूली खाने से धन का नाश होता है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*

 

🌞 *~ Today Panchang ~* 🌞

🌷 *नवरात्रि की पंचमी तिथि* 🌷
🙏🏻 *22 मार्च 2018 गुरुवार को चैत्र – शुक्ल पक्ष की पंचमी की बड़ी महिमा है। इसको श्री पंचमी भी कहते है। संपत्ति वर्धक है।*
🙏🏻 *इन दिनों में लक्ष्मी पूजा की भी महिमा है। ह्रदय में भक्तिरूपी श्री आये इसलिए ये उपसाना करें। इस पंचमी के दिन हमारी श्री बढे, हमारी गुरु के प्रति भक्तिरूपी श्री बढ़े उसके लिए भी व्रत, उपसाना आदि करना चाहिए। पंचमं स्कंध मातेति। स्कंध माता कार्तिक स्वामी की माँ पार्वतीजी …. उस दिन मंत्र बोलो – ॐ श्री लक्ष्मीये नम:।*

🌷 *चैत्र नवरात्रि* 🌷
🙏🏻 *चैत्र मास की नवरात्रि का आरंभ 18 मार्च,रविवार से हो गया है । नवरात्रि में रोज देवी को अलग-अलग भोग लगाने से तथा बाद में इन चीजों का दान करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती है। जानिए नवरात्रि में किस तिथि को देवी को क्या भोग लगाएं-*

🙏🏻 *नवरात्रि के चौथे दिन यानी चतुर्थी तिथि को माता दुर्गा को मालपुआ का भोग लगाएं ।इससे समस्याओं का अंत होता है ।*

🌷 *चैत्र नवरात्रि* 🌷

🙏🏻 *चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से नवमी तिथि तक वासंतिक नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस बार वासंतिक नवरात्रि का प्रारंभ 18 मार्च, रविवार से हो गया है, धर्म ग्रंथों के अनुसार, नवरात्रि में हर तिथि पर माता के एक विशेष रूप का पूजन करने से भक्त की हर मनोकामना पूरी होती है। जानिए नवरात्रि में किस दिन देवी के कौन से स्वरूप की पूजा करें-*

🌷 *रोग, शोक दूर करती हैं मां कूष्मांडा* 🌷

*नवरात्रि की चतुर्थी तिथि की प्रमुख देवी मां कूष्मांडा हैं। देवी कूष्मांडा रोगों को तुरंत नष्ट करने वाली हैं। इनकी भक्ति करने वाले श्रद्धालु को धन-धान्य और संपदा के साथ-साथ अच्छा स्वास्थ्य भी प्राप्त होता है। मां दुर्गा के इस चतुर्थ रूप कूष्मांडा ने अपने उदर से अंड अर्थात ब्रह्मांड को उत्पन्न किया। इसी वजह से दुर्गा के इस स्वरूप का नाम कूष्मांडा पड़ा।*

🙏🏻 *मां कूष्मांडा के पूजन से हमारे शरीर का अनाहत चक्रजागृत होता है। इनकी उपासना से हमारे समस्त रोग व शोक दूर हो जाते हैं। साथ ही, भक्तों को आयु, यश, बल और आरोग्य के साथ-साथ सभी भौतिक और आध्यात्मिक सुख भी प्राप्त होते हैं।*

🌞 *~ Today Panchang ~* 🌞

Today Panchang,Jan 18,2018- Pandit Anand Sharma

~ *Today Panchang* ~
⛅ *दिनांक 19 जनवरी 2018*
⛅ *दिन – शुक्रवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – उत्तरायण*
⛅ *ऋतु – शिशिर*
⛅ *मास – माघ*
⛅ *पक्ष – शुक्ल*
⛅ *तिथि – द्वितीया दोपहर 12:22 तक तत्पश्चात तृतीया*
⛅ *नक्षत्र – धनिष्ठा 20 जनवरी रात्रि 03:28 तक तत्पश्चात शतभिषा*
⛅ *योग – सिद्धि सुबह 11:03 तक तत्पश्चात व्यतीपात*
⛅ *राहुकाल – सुबह 11:27 से दोपहर 12:49 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:19*
⛅ *सूर्यास्त – 18:19*
⛅ *दिशाशूल – पश्चिम दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण -*
💥 *विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा बैंगन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*

🌷 *माघ शुक्ल तृतीया* 🌷
➡ *20 जनवरी 2018, माघ शुक्ल तृतीया, शतभिषा नक्षत्र है ।*
🙏🏻 *तृतीया तिथि को सार्वत्रिक रूप से गौरी की पूजा का निर्देश है, चाहे किसी भी मास की तृतीया तिथि हो। भविष्यपुराण के अनुसार माघ मास की शुक्ल तृतीया अन्य मासों की तृतीया से अधिक उत्तम है | माघ मास की तृतीया स्त्रियों को विशेष फल देती है | माघ मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया को सौभाग्य वृद्धिदायक गौरी तृतीया व्रत किया जाता है। भविष्यपुराण उत्तरपर्व में आज से शुरू होने वाले ललितातृतीया व्रत की विधि का वर्णन है जिसके करने से नारी को सौभाग्य, धन, सुख, पुत्र, रूप, लक्ष्मी, दीर्घायु तथा आरोग्य प्राप्त होता है और स्वर्ग की प्राप्ति होती है |*
🌷 *सौभाग्यं लभते येन धनं पुत्रान्पशून्सुखम् । नारी स्वर्गं शुभं रूपमारोग्यं श्रियमुत्तमाम् ।।*
🙏🏻 *भविष्यपुराण, ब्राह्मपर्व में भगवती गौरी ने धर्मराज से कहा :- माघ मास की तृतीया को गुड़ और लवण (नमक) का दान स्त्रियों एवं पुरुषों के लिए अत्यंत श्रेयस्कर है भगवन शंकर के प्रिये उस दिन मोदक एवं जल का दान करें .*
*माघमासे तृतीयायां गुडस्य लवणस्य च । दानं श्रेयस्करं राजन्स्त्रीणां च पुरुषस्य च ।।*
*तृतीयायां तु माघस्य वामदेवस्य प्रीतये । वारिदानं प्रशस्तं स्यान्मोदकानां च भारत ।।*
🙏🏻 *पद्मपुराण, सृष्टि खंड के अनुसार माघ मास के शुक्ल पक्ष तृतीया मन्वंतर तिथि है। उस दिन जो कुछ दान दिया जाता है उसका फल अक्षय बताया गया है।*
🙏🏻 *धर्मसिंधु के अनुसार माघ मास में ईंधन, कंबल, वस्त्र, जूता, तेल, रूई से भरी रजाई, सुवर्ण, अन्न आदि के दान का बड़ा भारी फल मिलता है।*
🙏🏻 *माघ में तिलों का दान जरूर जरूर करना चाहिए। विशेषतः तिलों से भरकर ताम्बे का पात्र दान देना चाहिए। विशिष्ट माघ में तिलदान ।*
🙏🏻 *अगर आप किसी रोग से पीड़ित हैं तो आज शतभिषा नक्षत्र होने के कारण चन्दन का दान करें। आपके रोग शांत होंगे।*

🌷 *व्यतीपात योग* 🌷
🙏🏻 *व्यतीपात योग की ऐसी महिमा है कि उस समय जप पाठ प्राणायम, माला से जप या मानसिक जप करने से भगवान की और विशेष कर भगवान सूर्यनारायण की प्रसन्नता प्राप्त होती है जप करने वालों को, व्यतीपात योग में जो कुछ भी किया जाता है उसका १ लाख गुना फल मिलता है।*
🙏🏻 *वाराह पुराण में ये बात आती है व्यतीपात योग की।*
🙏🏻 *व्यतीपात योग माने क्या कि देवताओं के गुरु बृहस्पति की धर्मपत्नी तारा पर चन्द्र देव की गलत नजर थी जिसके कारण सूर्य देव अप्रसन्न हुऐ नाराज हुऐ, उन्होनें चन्द्रदेव को समझाया पर चन्द्रदेव ने उनकी बात को अनसुना कर दिया तो सूर्य देव को दुःख हुआ कि मैने इनको सही बात बताई फिर भी ध्यान नहीं दिया और सूर्यदेव को अपने गुरुदेव की याद आई कि कैसा गुरुदेव के लिये आदर प्रेम श्रद्धा होना चाहिये पर इसको इतना नहीं थोडा भूल रहा है ये, सूर्यदेव को गुरुदेव की याद आई और आँखों से आँसू बहे वो समय व्यतीपात योग कहलाता है। और उस समय किया हुआ जप, सुमिरन, पाठ, प्रायाणाम, गुरुदर्शन की खूब महिमा बताई है वाराह पुराण में।*
💥 *विशेष ~ व्यतीपात योग – 19 जनवरी 2018 शुक्रवार को सुबह 11:04 से 20 जनवरी 2018 शनिवार को सुबह 11:20 तक व्यतीपात योग है।* 🙏 *🔱अमित शर्मा(पंडित)*

🌞 *~ Today Panchang ~* 🌞

Today Panchang,December 23, 2017 – Pandit Anand Sharma

Today Panchang,December 23, 2017 – Pandit Anand Sharma

🌞 ~ *Today Panchang*  ~ 🌞
⛅ *दिनांक 23 दिसम्बर 2017*
⛅ *दिन – शनिवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – शिशिर*
⛅ *मास – पौष*
⛅ *पक्ष – शुक्ल*
⛅ *तिथि – पंचमी रात्रि 12:24 तक तत्पश्चात षष्ठी*
⛅ *नक्षत्र – धनिष्ठा शाम 09:43 तक तत्पश्चात शतभिषा*
⛅ *योग – वज्र पूर्ण रात्रि तक*
⛅ *राहुकाल – सुबह 09:57 से सुबह 11:17 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:13*
⛅ *सूर्यास्त – 18:02*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
 ⛅ *व्रत पर्व विवरण*
💥 *विशेष – पंचमी को बेल खाने से कलंक लगता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *ब्रह्म पुराण’ के 118 वें अध्याय में शनिदेव कहते हैं- ‘मेरे दिन अर्थात् शनिवार को जो मनुष्य नियमित रूप से पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उनके सब कार्य सिद्ध होंगे तथा मुझसे उनको कोई पीड़ा नहीं होगी। जो शनिवार को प्रातःकाल उठकर पीपल के वृक्ष का स्पर्श करेंगे, उन्हें ग्रहजन्य पीड़ा नहीं होगी।’ (ब्रह्म पुराण’)*
💥 *शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष का दोनों हाथों से स्पर्श करते हुए ‘ॐ नमः शिवाय।’ का 108 बार जप करने से दुःख, कठिनाई एवं ग्रहदोषों का प्रभाव शांत हो जाता है। (ब्रह्म पुराण’)*
💥 *हर शनिवार को पीपल की जड़ में जल चढ़ाने और दीपक जलाने से अनेक प्रकार के कष्टों का निवारण होता है ।(पद्म पुराण)*
💥 *नौकरी – व्यवसाय में सफलता, आर्थिक समृद्धि एवं कर्ज मुक्ति हेतु कारगर प्रयोग शनिवार के दिन पीपल में दूध, गुड, पानी मिलाकर चढायें एवं प्रार्थना करें – ‘हे प्रभु ! आपने गीता में कहा है कि वृक्षों में पीपल मैं  हूँ । हे भगवान ! मेरे जीवन में यह परेशानी है । आप कृपा करके मेरी यह परेशानी (परेशानी, दुःख का नाम लेकर ) दूर करने की कृपा करें । पीपल का स्पर्श करें व प्रदक्षिणा करें ।*
               🌞 *~ Today Panchang~* 🌞
🌷 *तुलसी पूजन विधि व तुलसी – नामाष्टक* 🌷
🌿 *तुलसी पूजन विधि* 🌿
🙏🏻 *२५ दिसम्बर को सुबह स्नानादि के बाद घर के स्वच्छ स्थान पर तुलसी के गमले को जमीन से कुछ ऊँचे स्थान पर रखें | उसमें यह मंत्र बोलते हुए जल चढायें :*
🌷  *महाप्रसाद जननी सर्वसौभाग्यवर्धिनी*
*आधि व्याधि हरा नित्यम् तुलसी त्वाम् नमोस्तुते*
🌿 *फिर ‘तुलस्यै नम:’ मंत्र बोलते हुए तिलक करें, अक्षत (चावल) व पुष्प अर्पित करें तथा वस्त्र व कुछ प्रसाद चढायें | दीपक जलाकर आरती करें और तुलसीजी की ७, ११, २१,५१ व १०८ परिक्रमा करें | उस शुद्ध वातावरण में शांत हो के भगवत्प्रार्थना एवं भगवन्नाम या गुरुमंत्र का जप करें | तुलसी के पास बैठकर प्राणायाम करने से बल, बुद्धि और ओज की वृद्धि होती है |*
🌿 *तुलसी – पत्ते डालकर प्रसाद वितरित करें | तुलसी के समीप रात्रि १२ बजे तक जागरण कर भजन, कीर्तन, सत्संग-श्रवण व जप करके भगवद-विश्रांति पायें | तुलसी – नामाष्टक का पाठ भी पुण्यदायक है | तुलसी – पूजन अपने नजदीकी आश्रम या तुलसी वन में अथवा यथा–अनुकूल किसी भी पवित्र स्थान में कर सकते हैं |*
🌷 *तुलसी – नामाष्टक* 🌷
*वृन्दां वृन्दावनीं विश्वपावनी विश्वपूजिताम् |*
*पुष्पसारां नन्दिनी च तुलसी कृष्णजीवनीम् ||*
*एतन्नामाष्टकं चैतत्स्तोत्रं नामार्थसंयुतम् |*
*य: पठेत्तां च संपूज्य सोऽश्वमेधफलं लभेत् ||*
🌿 *भगवान नारायण देवर्षि नारदजी से कहते हैं : “वृन्दा, वृन्दावनी, विश्वपावनी, विश्वपूजिता, पुष्पसारा, नंदिनी, तुलसी और कृष्णजीवनी – ये तुलसी देवी के आठ नाम हैं | यह सार्थक नामावली स्तोत्र के रूप में परिणत है |*
🌿 *जो पुरुष तुलसी की पूजा करके इस नामाष्टक का पाठ करता है, उसे अश्वमेध यज्ञ का फल प्राप्त होता है | ( ब्रह्मवैवर्त पुराण, प्रकृति खण्ड :२२.३२-३३)*
             🌞 *~ Today panchang ~* 🌞
Today Panchang  December 14, 2017- Pandit Anand sharma

Today Panchang December 14, 2017- Pandit Anand sharma

🌞 ~ *Today Panchang* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 14 दिसम्बर 2017*
⛅ *दिन – गुरुवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – हेमंत*
⛅ *गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास – मार्गशीर्ष*
⛅ *मास – पौष*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – द्वादशी 15 दिसम्बर, प्रातः 05:07 तक तत्पश्चात त्रयोदशी*
⛅ *नक्षत्र – स्वाती रात्रि 11:05 तक तत्पश्चात विशाखा*
⛅ *योग – अतिगण्ड रात्रि 01:15 तत्पश्चात सुकर्मा*
⛅ *राहुकाल – दोपहर 01:53 से शाम 03:14 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:08*
⛅ *सूर्यास्त – 17:57*
⛅ *दिशाशूल – दक्षिण दिशा में*
 ⛅ *व्रत पर्व विवरण*
💥 *विशेष – द्वादशी को पूतिका(पोई) अथवा त्रयोदशी को बैंगन खाने से पुत्र का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार और द्वादशी के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।*
               🌞 *~ Today hindu Panchang ~* 🌞
🌷 *प्रदोष  व्रत* 🌷
➡ *15 दिसम्बर 2017 शुक्रवार को प्रदोष व्रत है ।*
🙏🏻 *यह एक पाक्षिक व्रत है अर्थात प्रत्येक महिने शुक्लपक्ष और कृष्णपक्ष की प्रदोषकालीन त्रयोदशी तिथि को व्रत रखते हैं।*
🙏🏻 *स्कंदपुराण के अनुसार*
 *त्रयोदश्यां तिथौ सायं प्रदोषः परिकीर्त्तितः । तत्र पूज्यो महादेवो नान्यो देवः फलार्थिभिः ।।*
*प्रदोषपूजामाहात्म्यं को नु वर्णयितुं क्षमः । यत्र सर्वेऽपि विबुधास्तिष्ठंति गिरिशांतिके ।।*
*प्रदोषसमये देवः कैलासे रजतालये । करोति नृत्यं विबुधैरभिष्टुतगुणोदयः ।।*
*अतः पूजा जपो होमस्तत्कथास्तद्गुणस्तवः । कर्त्तव्यो नियतं मर्त्यैश्चतुर्वर्गफला र्थिभिः ।।*
*दारिद्यतिमिरांधानां मर्त्यानां भवभीरुणाम् । भवसागरमग्नानां प्लवोऽयं पारदर्शनः ।।*
*दुःखशोकभयार्त्तानां क्लेशनिर्वाणमिच्छताम् । प्रदोषे पार्वतीशस्य पूजनं मंगलायनम् ।।*
🙏🏻 *जिसका सार है “त्रयोदशी तिथि में सायंकाल को प्रदोष कहा गया है। प्रदोष के समय महादेवजी कैलाशपर्वत के रजत भवन में नृत्य करते हैं और देवता उनके गुणों का स्तवन करते हैं। अतः धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की इच्छा रखने वाले पुरुषों को प्रदोष में नियमपूर्वक भगवान शिव की पूजा, होम, कथा और गुणगान करने चाहिए। दरिद्रता के तिमिर से अंधे और भक्तसागर में डूबे हुए संसार भय से भीरु मनुष्यों के लिए यह प्रदोषव्रत पार लगाने वाली नौका है। शिव-पार्वती की पूजा करने से मनुष्य दरिद्रता, मृत्यु-दुःख और पर्वत के समान भारी ऋण-भार को शीघ्र ही दूर करके सम्पत्तियों से पूजित होता है।”*
🌷 *प्रदोष व्रत विधि*
🙏🏻 *दोनों पक्षों की प्रदोषकालीन त्रयोदशी को मनुष्य निराहार रहे। निर्जल तथा निराहार व्रत सर्वोत्तम है परंतु अगर यह संभव न हो तो नक्तव्रत करे। पूरे दिन सामर्थ्यानुसार या तो कुछ न खाये या फल लें । अन्न पूरे दिन नहीं खाना। सूर्यास्त के कम से कम 72 मिनट बाद हविष्यान्न ग्रहण कर सकते हैं।*
👉🏻 *जिन नियमो का पालन इन व्रत में अवश्य करना होता है, वह हैं : अहिंसा, सत्य वाचन, ब्रह्मचर्य, दया, क्षमा, निंदा और इर्ष्या न करना ।*
👉🏻 *जितना संभव हो सके मौन धारण करें।*
👉🏻 *अगर संभव हो सके तो सूर्योदय से तीन घड़ी (अर्थात 72 मिनट) पूर्व स्नान कर लें । श्वेत वस्त्र धारण करें।*
👉🏻 *प्रदोषकाल में पूजा करें।*
👉🏻 *शिव पार्वती युगल दम्पति का ध्यान करके उनकी मानसिक पूजा करें ।*
👉🏻 *पूजा के आरम्भ में एकाग्रचित्त हो संकल्प पढ़ें । तदनन्तर हाथ जोड़कर मन-ही-मन उनका आह्वान करे-  “हे भगवान् शंकर ! आप ऋण, पातक, दुर्भाग्य और दरिद्रता आदि की निवृत्ति के लिये मुझ पर प्रसन्न हों।’ मैं दुःख और शोक की आग में जल रहा हूँ, संसार भय से पीड़ित हूँ, अनेक प्रकार के रोगों से व्याकुल  हूँ। वृषवाहन! मेरी रक्षा कीजिये। देवदेवेश्वर! सबको निर्भय कर देने वाले महादेव जी! आप यहाँ पधारिये और मेरी  की हुई इस पूजा को पार्वती के साथ ग्रहण कीजिये।”*
👉🏻 *पंचब्रह्म मंत्र  का पाठ करें ।*
👉🏻 *रुद्रसूक्त का पाठ करें।*
👉🏻 *पंचामृत से अभिषेक करें।*
👉🏻 *षोडशोपचार पूजा करें।*
👉🏻 *भगवान को साष्टांग प्रणाम करें।*
                     🌞 *~ Today Panchang ~* 🌞
Today Panchang 13 दिसम्बर 2017

Today Panchang 13 दिसम्बर 2017

🌞 ~ *Today Panchang* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 13 दिसम्बर 2017*
⛅ *दिन – बुधवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – हेमंत*
⛅ *गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास – मार्गशीर्ष*
⛅ *मास – पौष*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – एकादशी रात्रि 03:25 तक तत्पश्चात द्वादशी*
⛅ *नक्षत्र – चित्रा रात्रि 08:59 तक तत्पश्चात स्वाती*
⛅ *योग – शोभन रात्रि 01:07 तत्पश्चात अतिगण्ड*
⛅ *राहुकाल – दोपहर 12:32 से दोपहर 01:53 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:08*
⛅ *सूर्यास्त – 17:57*
⛅ *दिशाशूल – उत्तर दिशा में*
 ⛅ *व्रत पर्व विवरण – सफला एकादशी*
💥 *विशेष* – *हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है lराम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।*
💥 *आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l*
💥 *एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।*
💥 *एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।*
💥 *जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।*
               🌞 *~ Today Hindu Panchang~* 🌞
🌷 *कर्ज से मुक्ति* 🌷
💰 *कर्ज से शीघ्र मुक्ति पाने के लिए हर बुधवार के दिन वट वृक्ष के मूल में घी का दीप जला कर रख दें| इससे कर्जे से शीघ्र मुक्ति मिलेगी| और बुधवार के दिन खाने में मूँग या मूँग की दाल लें|*
 🙏🏻
                🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🌷 *गाँठे* 🌷
🔶 *शरीर में चर्बी की गाँठे बन गयी हों तो मूली का रस गाँठों पर खूब रगड़े | रस में नींबू व नमक मिलाकर पियें | गाँठे पिघल जायेंगी | मावा, मिठाई व मेवों का सेवन न करें |*
🙏🏻
                 🌞 *~Today Panchang ~* 🌞
🌷 *वास्तु दोष* 🌷
🏡 *जिनके घर का मुख दक्षिण में हो, वे अपने घर के दरवाजे के बाहर एक गमले में आम का पौधा लगायें और गुरुमंत्र का जप करें।*
🙏🏻
               *🌞 ~Today Panchang ~* 🌞
Aaj Ka Panchang 20 नवम्बर, 2017

Aaj Ka Panchang 20 नवम्बर, 2017

🌞 ~ *आज का  पंचांग* ~ 🌞
⛅ *आज का दिनांक 20 नवम्बर 2017*
⛅ *दिन – सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – हेमंत*
⛅ *मास – मार्गशीष*
⛅ *पक्ष – शुक्ल*
⛅ *तिथि – द्वितीया रात्रि  09:36 तक तत्पश्चात तृतीया*
⛅ *नक्षत्र – ज्येष्ठा रात्रि 12:48 तक तत्पश्चात मूल*
⛅ *योग – सुकर्मा रात्रि 10:32 तक तत्पश्चात धृति*
⛅ *राहुकाल – सुबह 08:18 से सुबह 09:40 तक*
⛅ *सूर्योदय – 06:53*
⛅ *सूर्यास्त – 17:54*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
 ⛅ *व्रत पर्व विवरण – चन्द्रदर्शन*
💥 *विशेष – द्वितीया को बृहती (छोटा   गन या कटेहरी) खाना निषिद्ध है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
           🌞 *~ पंचांग ~* 🌞
🌷 *पेट के रोगों में लाभदायी व बल – वीर्यवर्धक मिश्रण*
👉🏻 *घी में भुनी हुई छोटी हरड का चूर्ण १०० ग्राम, घी में भुनी ५० ग्राम सौंफ व ५० ग्राम कच्ची सौंफ लेकर सभीको मिला लें | अब इसमें ४०० ग्राम बूरा व २०० ग्राम शुद्ध घी मिलायें | इस मिश्रण को काँच के बर्तन में भर लें |*
👉🏻 *२ – २ चम्मच चूर्ण सुबह – शाम गर्म दूध के साथ लें | २ घंटे पूर्व व बाद तक कुछ न खायें | इसे १५ दिन तक लेने से पेट की शुद्धि होती है | पुराने कब्ज में भी लाभ होता है | आँतों को बल मिलता है, जिससे भोजन का सम्यक पाचन होने में मदद मिलती है | यह बल, वीर्य व नेत्रज्योति वर्धक तथा ह्रदय को बल देनेवाला है |*
🙏🏻 *स्त्रोत – लोककल्याण सेतु – नवम्बर २०१६ से*
             🌞 *~ पंचांग ~* 🌞
🌷 *वास्तु शास्त्र* 🌷
🙏🏻 *वास्तु के जरिए अपनी सभी समस्याओं को दूर किया जा सकता हैं फिर चाहे वह निजी जीवन से जुड़ी हों या प्रोफेशन लाइफ से,यहां तक कि वास्तु के जरिए अपने रिश्तों को भी सुधार जा सकता है। अगर आपके घर में आए दिन लड़ाई-झगड़े होते रहते है, या पिता और पुत्र के बीच हमेशा मन-मुटाव बना रहता है तो इन 7 बातों का ध्यान रखने से यह परिस्थिति बदली जा सकती है।*
🏡 *1.घर का ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्वी कोना खंडित होने से पिता-पुत्र में आपसी मामलों को लेकर हमेशा झगड़े होते हैं। इसलिए घर के उत्तर-पूर्वी कोने को हमेशा ठीक रखना चाहिए।*
🏡 *2. घर की उत्तर-पूर्व दिशा में कूड़ेदान बनाने या कूड़ा रखने से भी घर के लोगों में मन-मुटाव और जलन आदि भावना रखते हैं। इस दिशा में कूड़ादान भूलकर भी नहीं रखना चाहिए।*
🏡 *3. इलेक्ट्रॉनिक सामान, ज्वलनशील पदार्थ या गर्मी उत्पन्न करने वाले अन्य उपकरणों को ईशान (उत्तर-पूर्व) में रखने से पुत्र पिता की आज्ञा नहीं मानता है और घर-परिवार को अपमानित करता है। घर की उत्तर-पूर्वी दिशा में इन चीजों को नहीं रखना चाहिए।*
🏡 *4. घर में होने वाले झगड़ों से छुटकारा पाने के लिए घर को साफ रखें। वास्तु की दृष्टि से घर के उत्तर-पूर्व दिशा को साफ-सुथरा रखना बहुत जरुरी माना जाता है। ऐसा करने से घर में सुख-शांति बढ़ती है।*
🏡 *5. उत्तर-पूर्व दिशा में रसोई घर या शौचालय का होना भी घर के लोगों के संबंधों को प्रभावित करता है। साथ ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं बनी रहती है। घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रसोई घर या शौचालय नहीं होना चाहिए।*
🏡 *6. ईशान कोण (उत्तर-पूर्व) में स्टोर रूम, टीले या पर्वत के समान आकृति के निर्माण से भी पिता-पुत्र के संबंधों में परेशानियां आती हैं और दोनों में अविश्वास बना रहता है। घर के उत्तर-पूर्वी कोने में स्टोर रूम आदि नहीं बनवाना चाहिए।*
🏡 *7. यदि कोई प्लाट उत्तर व दक्षिण में संकरा तथा पूर्व व पश्चिम में लंबा है तो ऐसी जगह को सूर्यभेदी कहते हैं, ऐसी जगह पर पिता-पुत्र के संबंधों में अनबन की स्थिति सदैव रहती है। ऐसी जगह पर कभी घर नहीं बनाना चाहिए।*
             🌞 *~ आज का  पंचांग ~* 🌞